BREAKING NEWS
post viewed 26 times

भारतीय सेना का गौरवशील इतिहास बताते हैं ये 5 म्यूजियम

21_12_2017-kursura
जैसलमेर से 10 किमी की दूरी और जैसलमेर-जोधपुर हाईवे पर स्थित जैसलमेर वार म्यूजियम भारतीय सेना द्वारा बनाया गया है.

याद है बचपन में हम जब भी किसी को आर्मी ड्रेस में देखते थे, कितना चहकने लग जाते थे. आर्मी का एक अलग ही चार्म है. हम में से कई लोग ऐसे हैं, जिन्हें भारतीय सेना से जुड़ी बातें जानने का बड़ा ही शौक होता है. अगर आप भी सेना के बारे में जानने का शौक रखते हैं, तो आइए हम आपको ऐसे म्यूजियम के बारे में बता रहे हैं, जहां जाकर आप भारतीय सेना का इतिहास जान सकते हैं.

कुरसुरा पनडुब्बी म्यूजियम

विशाखापट्टनम में आईएनएस कुरसुरा पनडुब्बी संग्रहालय में आकर आपको ऐसा लगेगा, जैसे आप असली पनडुब्बी में आ गए हैं. यहां आकर पता चलेगा कि सबमरीन के अंदर लोग किस तरह से रहते हैं. एशिया में इस तरह का ये पहला संग्रहालय है, जिसका उद्घाटन वर्ष 2002 में हुआ था. इसे अभी भी नौसेना से ड्रेसिंगशिप का सम्मान दिया जाता है.

जैसलमेर वॉर म्यूजियम

जैसलमेर से 10 किमी की दूरी और जैसलमेर-जोधपुर हाईवे पर स्थित जैसलमेर वार म्यूजियम भारतीय सेना द्वारा बनाया गया है. इस संग्रहालय को 1965 में हुए भारत-पाक युद्ध और 1971 में लोंगेवाला युद्ध में शहीद हुए जवानों के त्याग और बहादुरी के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए बनाया गया है. कई युद्ध ट्रोफियां और विंटेज वॉर उपकरण रखे गए हैं.

भारतीय युद्ध मेमोरियल म्यूजियम

नई दिल्ली लाल किले परिसर के अंदर नौबत खाना में स्थित यह संग्रहालय ब्रिटिशों के शासनकाल के दौरान भारतीय सेना के गौरान्विेत कार्यों को समर्पित है. यहां पर पानीपत युद्ध से जुड़ी कई दिलचस्प जानकारियां जानने का मौका मिलेगा. साथ ही कई मेडल, रिबन और झंडे और वर्दी भी रखी गई हैं, जो तुर्की और न्यूजीलैंड के सैनिक अफसरों से जुड़ी हुई है.

नौसेना विमानन म्यूजियम

गोवा में भारतीय नौसेना का संग्रहालय भी पर्यटकों के बीच मशहूर है. ये दो भागों में विभाजित है, जिसमें एक बाहरी प्रदर्शनी और दूसरी भीतरी गैलरी है.

सामुद्रिका नेवल मरीन म्यूजियम

पोर्ट ब्लेयर में स्थित इस संग्रहालय को फिशरिस म्यूजियम के नाम से भी जाना जाता है. इस संग्रहालय को भारतीय नौसेना द्वारा संचालित किया जाता है. इस संग्रहालय का उद्देश्य अंडरवॉटर पर्यावरण और मरीन लाइफ के बारे में लोगों को जागरूक करना है.

Be the first to comment on "भारतीय सेना का गौरवशील इतिहास बताते हैं ये 5 म्यूजियम"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*