BREAKING NEWS
post viewed 25 times

चंडीगढ़ महापौर चुनाव: BJP के सामने बगावत की चुनौती

bjpflag

बीजेपी स्थानीय इकाई के प्रभारी प्रभात झा ने महापौर पद के लिए मोदगिल का नाम पार्टी उम्मीदवार के तौर पर घोषित किया तब चंडीगढ़ इकाई में दरार सामने आ गयी…

चंडीगढ़| चंडीगढ़ के महापौर पद के चुनाव के महज कुछ दिन रह जाने के बीच स्थानीय बीजेपी इकाई बगावत के दलदल में फंस गयी है क्योंकि उसकी निवर्तमान महापौर आशाकुमारी जयसवाल ने पार्टी उम्मीदवार के विरुद्ध निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर अपना पर्चा भरा है.

यहां के बीजेपी नेतृत्व ने स्थानीय बीजेपी अध्यक्ष संजय टंडन के धड़े की अनदेखी करते हुए महापौर पद के लिए पूर्व सांसद सत्यपाल जैन के करीबी समझे जाने वाले देवेश मोदगिल के नाम की घोषणा की थी. टंडन धड़ा पार्षद अरुण सूद के समर्थन में है. स्थानीय निकाय (एमसी) में बीजेपी का बहुमत है और चुनाव 9 जनवरी को होने वाला है.

जब बीजेपी स्थानीय इकाई के प्रभारी प्रभात झा ने महापौर पद के लिए मोदगिल का नाम पार्टी उम्मीदवार के तौर पर घोषित किया तब चंडीगढ़ इकाई में दरार सामने आ गयी. मोदगिल ने यहां एमसी कार्यालय में अपना पर्चा भरा. बीजेपी की महिला मोर्चा की उपाध्यक्ष जयसवाल ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल किया.

जसवाल ने कहा कि एमसी हाउस में 20 बीजेपी सदस्यों में 14 वर्तमान उम्मीदवार के पक्ष में नहीं हैं. उन्होंने कहा कि हम अपनी पार्टी से अनुरोध करते रहे हैं कि वह मोदगिल को छोड़कर किसी को भी महापौर पद के लिए चुनाव मैदान में उतार दे. कल आखिरी घड़ी में हमने झा जी से उनके अलावा किसी का भी नाम घोषित करने को कहा है. लेकिन हमारी अनदेखी की गयी और मोदगिल के नाम की घोषणा की गयी. मोदगिल पार्टी हितों के विरुद्ध काम करते रहे हैं.

अध्यक्ष टंडन ने कहा कि इस मुद्दे को बेहतर ढंग से निबटाया जा सकता था. वैसे जैन ने मोदगिल का बचाव किया और कहा कि उन्होंने कभी पार्टी हित के विरुद्ध काम नहीं किया.

Be the first to comment on "चंडीगढ़ महापौर चुनाव: BJP के सामने बगावत की चुनौती"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*