BREAKING NEWS
post viewed 120 times

गुजरात में शुरू हुआ Kite Festival,खास बातें

10_01_2018-kite_festival1
अहमदाबाद के अन्यर स्टे्शन, मणिनगर, वाटवा, गांधीग्राम, असरवा, चंदलोदिया, काली गम, वस्त्र पुर, साबरमती, सारखेज, नरौदा और आमली हैं.

हम में से ज्यादातर लोगों को पतंग उड़ाने का शौक होता है. बचपन में कई लोगों को पतंगबाज भी कहा जाता होगा. अगर आपको भी पतंगबाजी का शौक है, तो आप काइट फेस्टिवल (पतंग महोत्सव का हिस्सा बन सकते हैं) गुजरात में हर साल अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव का आयोजन किया जाता है. इस बार भी 7 जनवरी रविवार से अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव का आगाज हो गया है जो 14 जनवरी रविवार तक चलेगा.

इस बार क्या रहा खास 

महज सौ करो़ड़ रुपए का पतंग कारोबार पांच सौ करो़ड़ रुपए को पार कर गया है. सरकार को इस वर्ष पतंग उद्योग में 2.5 प्रतिशत बढ़ोतरी की आस है. राज्य सरकार द्वारा प्रायोजित यह उत्सव 14 जनवरी को मकर संक्रांति के दिन संपन्न होगा. पतंग उद्योग से करीब तीन लाख लोगों की रोजीरोटी जु़ड़ी है. इस महोत्सव में 44 देशों के 150, 18 राज्यों के 200 तथा गुजरात के 300 पतंगबाज शामिल हैं.

गुजरात के अहमदाबाद शहर में साल 1989 में पहली बार अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव का आयोजन किया गया था और तब से हर साल इस महोत्सव का आयोजन हो रहा है. इस साल फेस्टिवल का 29वां साल है.

इस काइट फेस्टिवल का मुख्य आकर्षण है अलग-अलग शेप, साइज और कलर में दिखने वाली लाखों पतंगें.

गुजराज टूरिज्म इस महोत्सव का समर्थन करता है और इस महोत्सव का मुख्य इवेंट अहमदाबाद स्थित साबरमती रिवरफ्रंट पर होता है.

कैसे पहुंचे : अहमदाबाद के अन्यर स्टे्शन, मणिनगर, वाटवा, गांधीग्राम, असरवा, चंदलोदिया, काली गम, वस्त्र पुर, साबरमती, सारखेज, नरौदा और आमली हैं. अहमदाबाद का एयरपोर्ट, सरदार बल्भ्त  भाई पटेल अंतरराष्ट्रीरय एयरपोर्ट है, जो शहर से 15 किमी. की दूरी पर स्थित है और यहां का रेलवे स्टेीशन, एयरपोर्ट से 8 किमी. की दूरी पर स्थित है. बस स्टैं ड, घरेलू और अंतरराष्ट्री य पर्यटकों के लिए सुविधा प्रदान करते है.

घूमने के लिए क्या है खास : झूलता मीनारा, जामा मस्जिद,गांधी आश्रम,जैन मंदिर

Be the first to comment on "गुजरात में शुरू हुआ Kite Festival,खास बातें"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*