BREAKING NEWS
post viewed 24 times

वीडियो: दुनिया के सफर पर निकलीं महिला नेवी अफसरों का तूफान से सामना

ins-tarini

नई दिल्ली| दुनिया की परिक्रमा पर निकलीं 6 महिला नेवी अफसरों का प्रशांत महासागर में समुद्री तूफान से सामना हुआ. हालांकि अफसरों ने तूफान का बहादुरी से सामना किया और अपनी नौका आईएनएसवी तरिणी अच्छी तरह निकाल लिया. महिला अफसरों के तूफान से सामना करने का नेवी ने वीडियो जारी किया है.

8 जनवरी के इस विडियो में देखा जा सकता है कि कैसे वे 6 बहादुर नेवी अफसर तूफान के बीच अपना सफर जारी रखने के लिए लड़ रही हैं. हालांकि, इंडियन नेवी ने ट्वीट कर सभी सदस्यों के सुरक्षित होने की पुष्टि की. इस टीम को लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी लीड कर रही हैं और इसमें लेफ्टिनेंट कमांडर प्रतिभा जामवाल पी.स्वाति और लेफ्टिनेंट विजया देवी, पायल गुप्ता और ऐश्वर्या शामिल हैं.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने 10 सितंबर को भारतीय नौसेना की ‘नाविका सागर परिक्रमा’ को झंडी दिखाकर रवाना किया था. यह पहली वैश्विक भारतीय जलयात्रा है, जिसमें चालक दल में सभी महिलाएं हैं. नविका सागर परिक्रमा पांच चरणों में पूरी होगी. यह राशन व जरूरी मरम्मत कार्य के लिए चार बंदरगाहों पर रुकेगी.

इस नौसेना दल में सभी महिलाएं हैं. इन महिलाओं को आगामी यात्रा के लिए व्यापक तौर पर प्रशिक्षित किया गया है. प्रशिक्षण के तौर पर चालक दल करीब 20,000 नाटिकल माइल्स (एनएम) आईएनएसवी महादेई व तारिणी पर सवार रहा है. इसमें मॉरीशस के दो अभियान (2016 व 2017) व गोवा से केपटाउन की 16 दिसंबर की समुद्री यात्रा शामिल रही है.

अप्रैल में वापस लौटेगी तरिणी
आईएनएसवी तरिणी 55 फुट की नौकायन जहाज है. इसे एक्वारियस शिपयार्ड प्राइवेट लिमिटेड, गोवा ने निर्मित किया है और इसे इस साल की शुरुआत में भारतीय नौसेना में शामिल किया गया. आईएनएसवी तरिणी अपनी जलयात्रा समाप्त कर अगले साल अप्रैल में गोवा लौटेगी.

भारतीय नौसेना में पहली बार अकेले संसार की जलयात्रा पर जाने का कार्य कैप्टन दिलीप डोंडे ने किया था. रक्षा मंत्रालय के एक बयान में कहा गया कि भारत सरकार के नारी शक्ति पर जोर दिए जाने की वजह से समुद्री नौकायन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए इस परियोजना को जरूरी माना गया.

Be the first to comment on "वीडियो: दुनिया के सफर पर निकलीं महिला नेवी अफसरों का तूफान से सामना"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*