BREAKING NEWS
post viewed 77 times

120 किस्म के जानवर और पेड़ देखने हैं तो घूमें- मुथुडी वाइल्ड लाइफ सेंचुरी

12_01_2018-travel5
सर्दियों में शिवगिरी का मौसम बेहद खुशनुमा होता है. 21 से 31 डिग्री के बीच रहने वाला तापमान पर्यटकों को सुकून दिलाता है.

हम में से बहुत से लोगों को वाइल्ड लाइफ सेंचुरी घूमने का शौक होता है. अगर आपको भी वाइल्ड लाइफ सेंचुरी देखने की शौक है तो आप मुथुडी वाइल्ड लाइफ सेंचुरी घूमने की प्लानिंग कर सकते हैं.

मुथुडी वाइल्डल लाइफ सेंचुरी को भद्रा वाइल्ड लाइफ सेंचुरी का एक हिस्सा माना जाता है. टाइगर प्रोजेक्टस के अर्न्तलगत 1998 में इस वाइल्ड लाइफ सेंचुरी को 25 टाइगर रिजर्व ऑफ इंडिया घोषित किया गया था. टाइगर, राजा गिद्ध, चिडियां, गौरेया, और भेडि़यों आदि कई अनोखी प्रजातियां यहां देखने को मिलती है. अगर आप जंगली कुत्तों, हाथी, बंदर, चीता, ग्रेट हार्न उल्लू और कई अनूठे जानवरों को देखने के शौकीन है, तो मुथुडी वाइल्ड, लाइफ सेंचुरी में बिल्कु ल निराश नहीं होगें. इन जानवरों ने अपना आशियाना इन्ही‍ इलाकों में बना लिया है. जानवरों के साथ-साथ यहॅा पेड़ों की भी 120 किस्में देखने को मिलती है.

कैसे पहुंचे 

बंगलौर, हुबली, मंगलौर, कोलीगाला और अन्यद शहरों से शिवगिरी के लिए बसें चलती है. कर्नाटक सरकार ने शिवगिरी तक जाने के लिए कई बसों को चलाया गया है. शिवगिरी में रेलवे स्टे शन है जोकि हुबली से जुडा हुआ है. शिवगिरी जाने के लिए बड़े रेलवे स्टेशनों में हुबली सबसे नजदीक है जोकि कई शहरों और राज्यों से जुडा हुआ है. रेलवे स्टेशन से प्राइवेट टैक्सी या रिक्शा से शिवगिरी को घुमा जा सकता है. शिवगिरी में कोई एयरपोर्ट नहीं है. दूर-दराज से आने वाले लोग बंगलौर एयरपोर्ट तक प्लेन से आ सकते है और प्राइवेट टैक्सीै या बसों के जरिए शिवगिरी तक पहुंच सकते है जोकि लगभग 235 किमी की दूरी पर है.

घूमने के लिए बेस्ट टाइम

सर्दियों  में शिवगिरी का मौसम बेहद खुशनुमा होता है. 21 से 31 डिग्री के बीच रहने वाला तापमान पर्यटकों को सुकून दिलाता है. अगर आप शिवगिरी जाने की सोच रहे है, तो अक्टूबर और मई का महीना सबसे अच्छा होता है. इन महीनों में शिवगिरी में भरपूर आनंद उठाया जा सकता है.

Be the first to comment on "120 किस्म के जानवर और पेड़ देखने हैं तो घूमें- मुथुडी वाइल्ड लाइफ सेंचुरी"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*