BREAKING NEWS
post viewed 62 times

केरल टूरिज्म की ब्रांडिंग करने निकल पड़े 28 देशों के 30 ब्लॉगर्स

Munnar-Kerala

पर्यटन की दुनिया में केरल को ‘ईश्वर का अपना देश’ (गॉड्स ओन कंट्री) कहा जाता है.

 नई दिल्ली. पर्यटन की दुनिया में केरल को ‘ईश्वर का अपना देश’ (गॉड्स ओन कंट्री) कहा जाता है. पश्चिम में अरब सागर, पूर्व में पश्चिमी घाट और ऐसी तमाम भौगोलिक विशेषताओं से यह भारत ही नहीं, बल्कि दुनिया के कुछ खूबसूरत पर्यटक स्थलों में से एक है. यहां के समुद्र तट शांत हैं, जो पर्यटक को असीम शांति के विस्तार की ओर ले जाते हैं. वहीं जंगलों से घिरे हिल स्टेशन और अद्भुत वन्यजीवन से भरा इस राज्य का वातावरण आपको पर्यटन की दृष्टि से अलौकिक आनंद देता है. शायद यही वजह है कि दुनिया के 28 देशों के 30 ब्लॉगर्स आज से इस राज्य की यात्रा पर निकले हैं. ये ब्लॉगर्स केरल में जगह-जगह घूमकर इसकी समृद्ध पर्यटन क्षमता की ब्रांडिंग करेंगे.

यात्रा को नाम दिया गया ‘ट्रिप ऑफ ए लाइफटाइम’
केरल के पर्यटन मंत्री पर्यटन मंत्री कदाकमपल्ली सुरेन्द्रन ने ब्लॉगरों की इस वार्षिक यात्रा को झंडी दिखाकर रवाना किया. उन्होंने ब्लॉगरों की इस यात्रा को ‘ट्रिप ऑफ ए लाइफटाइम’ का नाम दिया है. दरअसल, पर्यटन के लिए केरल में आकर्षण का सबसे बड़ा कारण है यहां के टूरिस्ट स्पॉट्स का पास-पास होना. केरल की हर खूबसूरत जगह एक दूसरे से कुछ ही घंटों की दूरी पर है. यह पर्यटन के लिहाज से ऐसी खासियत है जो कि आपको कहीं और नहीं मिलेगी. इसलिए भी विभिन्न देशों के ब्लॉगर्स केरल को करीब से देखने के लिए इकट्ठा हुए हैं.

केरल का अलाप्पुझा बोट टूरिज्म के लिए दुनियाभर में जाना जाता है. (फोटो साभारः केरलटूरिज्म)

केरल का अलाप्पुझा बोट टूरिज्म के लिए दुनियाभर में जाना जाता है. (फोटो साभारः केरलटूरिज्म)

केरल टूर का यह पांचवां आयोजन

इटली, स्पेन, बुलगारिया, रोमानिया, वेनेजुएला और पेरू सहित 28 देशों के ब्लॉगर इस बार के अभियान के लिए आज से यात्रा पर निकले हैं. यह केरल ब्लॉग एक्सप्रेस का पांचवां अभियान है, जो दो सप्ताह तक चलेगा. इस अभियान के दौरान ये ब्लॉगर्स केरल में पहाड़ियों, समुद्र तटों, गांवों और विभिन्न शहरों में जाएंगे. वे वहां के लोगों से मिलकर जीवन के अनुभवों का दस्तावेजीकरण भी करेंगे. यह अभियान एक अप्रैल को कोच्चि में समाप्त हो जाएगा. इसके अलावा ये ब्लॉगर्स अपने प्रशंसकों के लिए यात्रा संबंधी फोटो, वीडियो और लेख भी प्रकाशित करेंगे.

कोझीकोड के समुद्र तट पर्यटकों को आकर्षित करते हैं. (फोटो साभारः केरलटूरिज्म)

कोझीकोड के समुद्र तट पर्यटकों को आकर्षित करते हैं. (फोटो साभारः केरलटूरिज्म)

केरल में इन जगहों पर जाएंगे ये ब्लॉगर्स

इस यात्रा के दौरान ब्लॉगर्स अलप्पुझा, कुमाराकोम, त्रिशूर, मुन्नार, कोझीकोड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड जाएंगे. इनमें अलप्पुझा को ‘पूर्व का वेनिस’ कहा जाता है. क्योंकि यह जगह बोट रेस, बैकवाटर में छुट्टियां मनाने, समुद्र तट और समुद्री उत्पादों के लिए विख्यात है। वहीं कोझीकोड और त्रिशूर अपने समुद्री तटों के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है. केरल का मुन्नार पिकनिक स्पॉट के रूप में जाना जाता है. यहां स्थित देवीकुलम की पहाड़ियां आपको बरबस ही प्रकृति के करीब ला देती है. प्रकृति के अद्भुत सौंदर्य दर्शन के लिए आपको वायनाड जाना चाहिए. कोझीकोड से 100 किलोमीटर से भी कम दूरी पर स्थित यह स्थान न सिर्फ ब्लॉगर्स के घूमने का स्थान है, बल्कि यहां हर साल हजारों की संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं.

Be the first to comment on "केरल टूरिज्म की ब्रांडिंग करने निकल पड़े 28 देशों के 30 ब्लॉगर्स"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*