बैशाखी पर्व पर हरिद्वार के गंगा घाटों के साथ ही पूरे उत्तराखंड में श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित किया। सुबह से ही गंगा घाटों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी रही।

बैशाखी स्नान का पुण्य काल 14 अप्रैल सुबह से शुरू हो गया। ऐसे में हरिद्वार में हरि की पैड़ी सहित अन्य गंगा घाटों में सुबह से ही स्नान करने वालों का तांता लगा रहा। गंगा स्नान के बाद श्रद्धालुओं ने मठ मंदिरों के दर्शन किए और पूजन किया।

धर्मनगरी हरिद्वार के बाजारों खासकर अप्पर रोड मोती बाजार बंगाली बाजार और भूपतवाला बाजार भीड़ से भरे रहे। वहीं ऋषिकेश के त्रिवेंणी घाट सहित अन्य घाटों पर भी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी रही।

सूर्य के मेष राशि में प्रवेश करने पर बैशाखी पर्व मनाया जाता है। मान्यता है कि इस दिन स्नान से अधिक पुण्य की प्राप्ति होती है। सोमवार को सोमवती अमावस्या का बड़ा स्नान है।

पुलिस प्रशासन ने भीड़ के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। साथ ही हाईवे और उससे जुड़ी सड़कों पर भारी वाहनों के चलने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। स्नान पर्व पर बढ़ती भीड़ के चलते स्कूल प्रबंधकों ने शहर के अधिकांश स्कूलों में सोमवार तक की छुट्टी कर दी है।