BREAKING NEWS
post viewed 43 times

जानिए कौन हैं विहिप के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे

Vishnu-Sadashiv-Kokje

वी.एस. कोकजे ने विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया के समर्थक उम्मीदवार राघव रेड्डी को हराकर अपनी जीत कायम की.

 नई दिल्ली. विष्णु सदाशिव कोकजे अब विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे. आज हरियाणा के गुरुग्राम में हुए चुनाव में उन्होंने विपक्षी उम्मीदवार को हराकर अध्यक्ष पद की दौड़ में जीत हासिल की. उन्हें भारी मतों से विजयी घोषित किया गया. कोकजे ने इस पद के लिए विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया के समर्थक उम्मीदवार राघव रेड्डी को हराकर अपनी जीत कायम की. प्रवीण तोगड़िया पिछले कई वर्षों से विश्व हिन्दू परिषद का चेहरा माने जाते रहे हैं. ऐसे में जानकारों का अनुमान था कि राघव रेड्डी ही विहिप के अध्यक्ष पद पर चुने जाएंगे. लेकिन वी.एस. कोकजे ने इस पद के लिए हुए चुनाव में राघव रेड्डी के मुकाबले अधिक मत लाकर ‘सत्ता’ हासिल की.

HIGHLIGHTS

  • वी.एस. कोकजे को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का करीबी माना जाता है

  • प्रवीण तोगड़िया के समर्थक उम्मीदवार राघव रेड्डी को हराकर जीते कोकजे

  • मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के जज और हिमाचल के गवर्नर रह चुके हैं कोकजे

देश से बाहर के मतदाताओं ने भी डाले वोट
विहिप के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए हुए इस चुनाव में भारत और देश से बाहर रहने वाले परिषद के सदस्यों ने भी मतदान किया. परिषद के भारत में रहने वाले 209 सदस्यों और देश से बाहर रहने वाले 64 सदस्यों ने चुनाव में वोट डाले थे. वी.एस. कोकजे को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का करीबी माना जाता है. कोकजे विहिप के अध्यक्ष बनने से पहले हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल और मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के जज रह चुके हैं. सेवानिवृत्त जज वी.एस. कोकजे वर्ष 2002 में सुप्रीम कोर्ट में सीनियर एडवोकेट के रूप में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

मध्यप्रदेश के धार जिले में हुआ जन्म
मध्यप्रदेश के धार जिले में 6 सितंबर 1939 को जन्मे वी.एस. कोकजे ने प्राथमिक शिक्षा अपने जिले में ही ग्रहण की. इसके बाद उच्च शिक्षा के लिए वे इंदौर चले गए. इंदौर के होल्कर कॉलेज से उन्होंने स्नातक किया. इसके बाद वहीं पर रहते हुए गवर्नमेंट आर्ट्स एंड कॉमर्स कॉलेज से उन्होंने कानून की डिग्री हासिल की. बाद में उन्होंने क्रिश्चियन कॉलेज इंदौर से सोशियोलॉजी में एम.ए की डिग्री भी ली. इसके बाद उन्होंने 26 वर्षों तक कानून के क्षेत्र में काम किया. 28 जुलाई 1990 को उन्हें मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में जज बनाया गया. वर्ष 1992 से लेकर 1994 तक वी.एस. कोकजे मध्यप्रदेश उपभोक्ता आयोग के अध्यक्ष भी रहे. 1998 से 2001 तक वे राजस्थान हाईकोर्ट में वे प्रशासनिक जज के पद पर रहे. वे 11 महीनों तक राजस्थान हाईकोर्ट के प्रभारी चीफ जस्टिस भी रहे हैं.

2003 में संभाला हिमाचल के गवर्नर का पदभार
8 मई 2003 को सेवानिवृत्त जज वी.एस. कोकजे ने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल का पद संभाला. राज्यपाल के महत्वपूर्ण पद पर रहते हुए भी विभिन्न विधाओं के प्रति अपने अनुराग के लिए वी.एस. कोकजे याद किए जाते रहे हैं. खेल के प्रति अपने लगाव को वे किसी से छुपाते नहीं. राज्यपाल रहते हुए भी अपने व्यस्ततम कार्यक्रमों के बीच वे बैडमिंटन और क्रिकेट के लिए समय निकाल लेते थे. खेल के साथ-साथ अध्ययन और पर्यटन भी वी.एस. कोकजे के पसंदीदा शौक में से रहा है. खासकर लंबी दूरी की ड्राइविंग. इसके अलावा वी.एस. कोकजे इंटरनेट-फ्रेंडली माने जाते हैं. हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल को लोग ‘टेक-सेवी प्रशासक’ के रूप में भी याद करते हैं.

Be the first to comment on "जानिए कौन हैं विहिप के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*