BREAKING NEWS
post viewed 85 times

कहीं 5वीं क्लास तो कहीं 6 साल की बच्ची से रेप

rap

बिहार के सासाराम और असम के नगांव रेप को लेकर भी लोगों में नाराजगी है.

 नई दिल्ली। कठुआ और उन्नाव गैंगरेप के मुद्दे पर पूरे देश में नाराजगी है. लोग आरोपियों पर कार्रवाई की लगातार मांग कर रहे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तो दिल्ली स्थित इंडिया गेट पर इसके लिए कैंडल मार्च निकाला. इसमें बड़ी संख्या में लोग पहुंचे. वहीं, दूसरी तरफ बिहार के सासाराम और असम के नगांव रेप को लेकर भी लोगों में नाराजगी है. बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने भी सवाल उठाया कि असम के मुद्दे पर बात क्यों नहीं हो रही है?

बिहार के सासाराम में छह साल की बच्ची से रेप
बिहार के सासाराम में छह साल की बच्ची के साथ रेप का मामला सामने आया है. करगहर थाना इलाके में बच्ची के साथ रेप की घटना से सनसनी फैल गई. घटना के बाद स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए और बाजार बंद कर प्रदर्शन शुरू कर दिया. देखते ही देखते वहां आगजनी शुरू हो गई और सड़क जाम कर प्रदर्शन शुरू कर दिया. बताया जा रहा है कि बच्ची के साथ 25 साल के एक युवक ने रेप किया. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. बच्ची की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है और उसे इलाज के लिए बनारस रेफर किया गया है. हालांकि, इस मामले में भी आरोपी को बचाने का प्रयास हो रहा है, जिससे लोगों में नाराजगी है.

असम के नगांव में पांच साल की बच्ची से रेप
असम के नगांव में 23 मार्च को 5वीं क्लास की बच्ची के साथ रेप और फिर उसे आग के हवाले करने का मामला सामने आया है. 90 फीसदी जली लड़की ने कुछ दिनों तक अस्पताल में संघर्ष करने के बाद दम तोड़ दिया. इस मामले में पुलिस ने दो नाबालिग आरोपियों को गिरप्फार किया है.

बताया जा रहा है कि घटना वाले दिन बच्ची घर में अकेली थी. इसी दौरान जाकिर हुसैन नाम के शख्स ने उसके रेप किया. इतना ही नहीं इसके बाद दोनों नाबालिगों के साथ मिलकर बच्ची को आग के हवाले कर दिया. बच्ची से रेप के बाद भी लोगों में काफी गुस्सा है और लोगों ने सड़क पर प्रदर्शन किया. उन्होंने सरकार से मांग की कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले.

क्या है कठुआ मामला
जिले के रसाना में दो समुदायों की लड़ाई में एक देवस्थान के केयरटेकर ने अपने बेटे, भतीजे और कुछ पुलिस वालों के साथ मिलकर 8 साल की लड़की का पहले अपहरण और फिर गैंगरेप को अंजाम दिया. इस मामले में पुलिस के अधिकारी भी शामिल हैं. लड़की को सात दिन तक देवस्थान पर ही रखा गया था और कई बार उसके साथ रेप किया गया. लड़की की छत-विक्षत लाश मिलने पर लोगों ने प्रदर्शन किया और सरकार पर दबाव बनाया. बाद में क्राइम ब्रांच को मामला दे दिया गया.

क्राइम ब्रांच की टीम ने मामले का खुलासा करते हुए 8 लोगों को गिरफ्तार किया. लेकिन कुछ क्षेत्रीय लोग, वकीलों का एक समुह और कुछ राजनैतिक लोग आरोपियों के साथ खड़े हो गए हैं. वे आरोपियों की गिरफ्तारी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

क्या है उन्नाव मामला
उन्नाव में एक लड़की ने बीजेपी विधायक पर गैंगरेप का आरोप लगाया है. मामले का और गंभीर तब हो गया जब ये आरोप लगा कि शिकायत करने थाने पहुंचे पीड़िता के पिता की पुलिस पिटाई से मौत हो गई. हालांकि, विधायक रेप से और पुलिस पिटाई से मौत से इनकार कर रही है.

मामला तूल पड़ता देख योगी सरकार ने पहले एसआईटी जांच के आदेश दिए. लेकिन वहां से भी चीजें स्पष्ट नहीं हुई तो सीबीआई जांच के आदेश दिए गए हैं. हालांकि, बीजेपी की एक प्रवक्ता सहित विपक्षी नेता इस पर योगी सरकार से सवाल कर रहे हैं. उनका कहना है कि विधायक अब भी क्यों नहीं सलाखों के पीछे है?

Be the first to comment on "कहीं 5वीं क्लास तो कहीं 6 साल की बच्ची से रेप"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*