BREAKING NEWS
post viewed 41 times

‘किसान, बेरोजगार, कारोबारी बेहाल, मुबारक हों ये चार साल’-4 लाइन में 13 मुद्दे लिख केंद्र सरकार पर अखिलेश का तंज

Akhilesh-yadav-1

केंद्र में बीजेपी की मोदी सरकार के चार साल पूरे होने सपा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी आलोचना की है.

लखनऊ: केंद्र में बीजेपी की मोदी सरकार के चार साल पूरे होने सपा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी आलोचना की है. अखिलेश ने ट्वीट कर मोदी सरकार को राजनीति में भ्रष्टाचार का खेल बताया है. अखिलेश ने चार लाइन में मोदी सरकार को 14 मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरा है. इससे पहले मायावती ने भी मोदी सरकार को हर मोर्चे पर विफल बताया है.

अखिलेश ने ट्वीट कर मोदी सरकार को कुछ अलग अंदाज़ में मुबारकबाद दी है. उन्होंने भ्रष्टाचार, बैंकिंग सिस्टम, पेट्रोल-डीज़ल, घोटालेबाज़ फ़रार, महँगाई, जीएसटी, दलित, ग़रीब, महिला, किसान, बेरोज़गार, कारोबारियों को बेहाल बताकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. अखिलेश ने ट्वीट किया कि ‘राजनीति में भ्रष्टाचार का खेल, बैंकिंग सिस्टम हुआ फ़ेल. पेट्रोल-डीज़ल के दाम उच्चतम, डॉलर के मुक़ाबले रुपया न्यूनतम. देश से घोटालेबाज़ फ़रार, विदेशों से दिखावे के क़रार. महँगाई पर जीएसटी की मार. दलित, ग़रीब, महिला पर वार. किसान, बेरोज़गार, कारोबारी बेहाल, मुबारक हों ये चार साल!’

मायावती ने भी साधा निशाना
मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर बसपा प्रमुख मायावती ने भी निशाना साधा है. मायावती ने कहा कि मोदी सरकार हर मोर्चे पर फेल हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई मोर्चे पर इतिहास बनाए हैं. पेट्रोल-डीज़ल की कीमत एतिहासिक उंचाई पर है. उन्होंने कहा कि मुसलमानों और दलितों पर हमले बढ़े हैं. उनके बीच असुरक्षा की भावना बढ़ी हैं.

बीजेपी ने किया पलटवार
उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार के मंत्री श्रीकांत शर्मा ने पलटवार किया है. श्रीकांत शर्मा ने कहा कि ‘बहन मायावती बबुआ अखिलेश यादव और राहुल गांधी की तरह झूठ की मशीन में तब्दील हो गई हैं.’ उन्होंने कहा कि दलितों पर सबसे ज्यादा अत्याचार मायावती के ही शासन में हुए हैं. वह धन की बेटी हैं और दलितों की उन्हें फिक्र नहीं है. वह सिर्फ रुपयों से लगाव रखती हैं.

Be the first to comment on "‘किसान, बेरोजगार, कारोबारी बेहाल, मुबारक हों ये चार साल’-4 लाइन में 13 मुद्दे लिख केंद्र सरकार पर अखिलेश का तंज"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*