मद्रिद, स्पेन (एएनआइ)। स्पेन की सोशलिस्ट पार्टी के प्रमुख पेड्रो सांचेज ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। सांचेज ने बिना बाइबल के शपथ ग्रहण की। कहा जा रहा है कि ऐसा उन्होंने इसलिए किया क्योंकि वे नास्तिक है। स्पेन के अब तक के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि जब किसी प्रधानमंत्री ने बिना बाइबल के शपथ ली हो।

बता दें कि मारियानो रखॉय की कुर्सी चली जाने के बाद पेद्रो सांचेज स्पेन के प्रधानमंत्री बने हैं।

अविश्वास प्रस्ताव से पहले दिया था मारियानो ने इस्तीफा

दरअसल, रखॉय की पार्टी के भ्रष्टाचार के मामले में फंसने के बाद उन्हें प्रधानमंत्री के पद से हटाने के लिए सांचेज को छह दूसरी पार्टियों का समर्थन मिला। जिसके बाद उन्हें पद छोड़ना पड़ा। भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर लाए गए अविश्वास प्रस्ताव से पहले ही मारियानो रखॉय ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। वे 2011 से प्रधानमंत्री पद पर थे।

‘संविधान की रक्षा करूंगा’

उन्होंने शपथ लेते हुए कहा कि मैं वादा करता हूं कि अपनी अंतरात्मा और सम्मान के साथ प्रधानमंत्री के कर्तव्यों का निर्वहन करूंगा और मूलभूत नियमों के तहत संविधान की रक्षा करूंगा।

अगले हफ्ते कैबिनेट का होगा फैसला 

बता दें कि 46 वर्षीय सांचेज अर्थशास्त्री हैं लेकिन उन्हें सरकार चलाने का कोई अनुभव नहीं है। सांचेज संसदीय कार्यकाल के बाकी के बचे दो साल की कमान संभालेंगे। इस बीच उम्मीद जताई जा रही है कि अगले हफ्ते वे अपनी कैबिनेट की लिस्ट जारी करेंगे, जिसमें पता चलेगा कि उनकी कैबिनेट में कौन होगा और कौन नहीं।

कौन हैं पेद्रो सांचेज?

– पेद्रो सांचेज का जन्म स्पेन की राजधानी मद्रिद में 29 फरवरी, 1972 को हुआ

– अपनी पढ़ाई कैमिलो जॉस सेला यूनिवर्सिटी से की

– सांचेज एक अर्थशास्त्री और बास्केटबॉल खिलाड़ी भी रहे हैं

– वे 2014 में स्पेनिश सोशलिस्ट पार्टी के प्रमुख बन गए

– इससे पहले वे राजनीति में नहीं थे

– उन्होंने अपनी पार्टी को एक करने और समाजवादियों को वापस सत्ता में लाने के वादे के साथ चुनाव जीता

– कहा जा रहा है कि सांचेज ने क्राउडफंडिंग के जरिये के लिए समाजवादियों के लिए वोट जुटाए

– सोशलिस्ट पार्टी में जुड़ने से पहले वे मद्रिद सिटी काउंसिल में काउंसलर के तौर पर काम करते थे