हम में से बहुत से लोग ऐसे होते हैं, जो घूमने-फिरने के मामले में काफी यूजी होते हैं। वो ऐसी जगहों को एक्सप्रोर करना चाहते हैं, जिनके बारे में बहुत कम सुनने या पढ़ने को मिलता हो। आज हम आर्ट और कल्चर में दिलचस्पी लेने वाले लोगों के लिए ऐसी जगह लेकर आए हैं, जहां वो काफी कुछ एक्सप्रोर कर सकते हैं।

नेशनल साइंस सेंटर

 

प्रगति मैदान स्थित यह म्यूजियम बच्चों से लेकर बड़ों तक के आकर्षण का केंद्र है। यहां आपको विज्ञान के अनोखे चमत्कारों को देखने और समझने का मौका मिलेगा।

नेशनल रेल म्यूजियम

रेल म्यूजियम के नाम से जाना जाने वाला यह म्यूजियम भारतीय रेल के इतिहास को समर्पित है। यहां आपको सौ से ज्यादा रियल साइज रेल की प्रदर्शनी देखने को मिलेगी।

त्रिवेणी कला संगम 

मण्डी हाउस मेट्रो स्टेशन के पास त्रिवेणी कला संगम नए आर्टिस्ट्स, फटॉग्रफर्स, डांसर्स आदि का पसंदीदा स्पॉट है। यह दिल्ली की सबसे पहली गैलरीज और टीचिंग सेंटर्स में से एक हैं।

इंडिया हैबिटैट सेंटर 

इंडिया हैबिटैट सेंटर दिल्ली के सबसे महत्वपूर्ण कल्चरल हब में से एक है। यहां कई बड़े और महत्वपूर्ण कार्यक्रम, सेमिनार्स और फेस्टिवल्स का आयोजन होता रहता है।

नेहरू मेमोरियल म्यूजियम ऐंड लाइब्रेरी 

 

कभी भारत के पहले प्रधानमंत्री का घर रहा दिल्ली का तीन मूर्ती भवन उनके निधन के बाद 1964 में म्यूजियम बना दिया गया था।

नेशनल म्यूजियम 

शहर के बीचो-बीच स्थित यह म्यूजियम भारत की विविधकलाओं को दर्शाता है। खासकर, जिन लोगों की दिलचस्पी भारतीय सभ्यता के बारे में जानने में है उन्हें यहां एक बार जरूर आना चाहिए।

नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट 

भारतीय मॉडर्न पेंटिंग और मूर्तिकला का नमूना देखने में रुचि रखने वालों के लिए नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट स्वर्ग से कम नहीं है। पहले यह जयपुर के महाराज का निवास हुआ करता था जिसे बाद में आर्ट गैलरी का रूप दे दिया गया। यहां राजा रवि वर्मा, रबीन्द्रनाथ टैगोर, अमृता शेरगिल जैसे कलाकारों के मास्टरपीस प्रदर्शित हैं।

दिल्ली आर्ट गैलरी 

दिल्ली के आधुनिक कलाकारों के लिए यह एक मंच है। फैशनेबल हौज खास विलेज में स्थित यह आधुनिक गैलरी 20वीं सदी की भारतीय कला के लिए एक प्रमुख संस्था बन गई है।