लखनऊ – 235 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुए इस अत्याधुनिक आलमबाग बस स्टेशन के लोकार्पण की तैयारिया पूरी हो चुकी है। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज लखनऊ से अयोध्या स्वामी नारायण मंदिर छपिया के लिए दो संकल्प सेवाओं को रवाना कर इसका उद्घाटन करने वाले हैं। इसके अलावा 40 नए प्रवर्तन वाहनों को भी मुख्यमंत्री फ्लैग ऑफ करेंगे। बसों का संचालन 13 जून से होगा।

लखनऊ से दिल्ली और आगरा वाया एक्सप्रेस वे संचालित होने वाली 395 एसी सेवाओं का संचालन प्रथम चरण में किया जाएगा। तीन दिन में सात सौ बसों का संचालन नए बने इस बस स्टेशन से शुरू करने की तैयारी है। इस सिलसिले में रविवार को परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक पी. गुरुप्रसाद ने जिला और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के साथ पीपीपी मॉडल पर बने आलमबाग की समस्त व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया गया था।

रूट और यातायात को लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने निगम प्रबंधन के साथ वार्ता की। सपाइयों ने एक दिन पहले ही कर दिया उद्घाटन-मनाया था जश्न गौरतलब हो कि अत्याधुनिक तकनीक से लैस इंटरनेशनल बस स्टेशन का उद्घाटन सीएम योगी के द्वारा होना है, लकिन इससे पूर्व समाजवादी पार्टी के नेताओं ने इसे अपने सरकार की उपलब्धि बताकर एक दिन पहले ही इसका उद्घाटन कर दिया। इस मौके पर सपाइयों ने जश्न मनाया और लोगों को मिठाई भी बाटी।

बता दें, लखनऊ मेट्रो के उद्घाटन के समय भी सपा कार्यकर्ताओं ने मिठाई बाटी थी। आलमबाग बस स्टेशन का नाम कभी डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर बस स्टेशन था। 2012 में जब प्रदेश में अखिलेश यादव के नेतृत्व में सपा की सरकार बनी तो इसको तोड़कर नया बस अड्डा बनना शुरू हो गया था।

बस स्टेशन पर मिलेंगी ये सुविधाएं

– मेट्रो से लिंक होगा बस स्टेशन, पाच लिफ्ट।

– मॉल सरीखे इस बस अड्डे में यात्री जरूरत की खरीदारी भी कर सकेंगे।

– वातानुकूलित फूड कोर्ट, थिएटर की सुविधा।

– बैंकों के एटीएम काउंटर, अन्य सेवाओं का लाभ।

– इंतजार में एसी कैंटीन में बैठे यात्रियों को मिलेगी बसों की छूटने की जानकारी।

– एयरपोर्ट की तर्ज पर लगेज स्कैनर, 25 हजार यात्रियों की क्षमता, 50 बसें साथ खड़ी हो सकेंगी।

– 50 से अधिक बसों की अंडरग्राउंड पार्किंग।

– 50 से अधिक बसों की अंडरग्राउंड पार्किंग।