संयुक्त राष्ट्र के हैप्पी इंडैक्स में फिनलैंड पहले नंबर पर था. जबकि भारत 122वें नम्बर से 133वें रहा। भारत से खुश रहने के मामले में गरीब देश पाकिस्तान, नेपाल, बंग्लादेश और भूटान भी आगे हैं। वहीं अगर आप एडवेंचर्स स्पोर्ट्स के शौकीन हैं तो आपको ऐसी जगह जाना चाहिए जहां पर सैर-सपाटे के साथ गेम्स का मजा भी ले सकें। ऐसी जगह है फिनलैंड जो छोटा-सा देश है, लेकिन ट्रैवल के लिहाज से यहां बहुत कुछ है आइए, जानते हैं खास बातें। 

लगभग 2 लाख झीलों का देश 

फिनलैंड नीला देश, झीलों का शहर, फिनलैंड में लगभग 2 लाख झील हैं यहां लोग अपनी भाषा में फिनलैंड को ‘ सौमी फिनलैंड ‘ कहते हैं। हैल्सिलन्की फिनलैंड की राजधानी है, जिसे ब्लू सिटी भी कहा जाता है यहां से बस, मेट्रो ट्रेन, ट्राम एवं ट्रेन आदि चलती है. बस की यात्रा करने पर ढाई यूरो टिकट लगता है जबकि मेट्रो और ट्राम ट्रेन की टिकट दो यूरो है।

सोना बाथ से फ्रेश होते हैं टूरिस्ट 

सोना बाथ फिनलैंड में बहुत ही मशहूर है। ये एक तरह का स्नान होता है, जिसमें एक कमरे में एक बड़ा-सा पत्थर होता है। इस पत्थर को लाल हो जाने तक गर्म किया जाता है। गर्म हो जाने के बाद इस पर पानी डाला जाता है पानी डालने पर निकलने वाली भाप से लोग नहाते हैं इस तरह का स्नाैन सप्ताह में एक बार किया जाता है इसी को सोना बाथ कहा जाता है।

ऐसे एडवेंचर स्पोर्ट्स जो आपने सुने भी नहीं होंगे 

यहां पर दुनिया के सभी ट्रेवल स्पोर्ट्स का मजा लिया जा सकता है यहां ट्रेकिंग, आइस हॉकी, आइस जपिंग, साईकिलिंग, बॉक्सिंग, वाटर रेस जैसे खेलों का लुत्फ लिया जा सकता है। साथ ही यहां पर वा‍इफ केयरिंग कॉन्टेास्ट  बहुत मशहूर है इस खेल में पति अपनी पत्नी को गोद में उठाकर दौड़ लगाता है जो इस दौड़ मे जीतता है, उसे अपनी पत्नी के वजन का टेडी बियर दिया जाता है।

कैसे पहुंचे : इंटरनेशल फ्लाइट नई दिल्ली, गोवा, बैंगलोर से मिल जाएगी उससे पहले आपको पासपोर्ट और वीजा अप्लाई करना पड़ेगा। 

घूमने के लिए बेस्ट टाइम : आप दिसम्बर से मार्च के बीच यहां घूम सकते हैं। 

क्या है खास : यहां झील, बोटिंग, एडवेंचर्स गेम्स के साथ हर चीज खास है।