BREAKING NEWS
post viewed 58 times

सिंगापुर व पनामा के सहयोग से उत्‍तराखंड में कृषि व अन्‍य क्षेत्रों का होगा विकास

uttarakhand-CM

उत्‍तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से पनामा में भारतीय राजदूत रवि थापर और सिंगापुर में भारतीय उच्चायुक्त जावेद अशरफ ने भेंट की.

लखनऊ/देहरादून: उत्‍तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से पनामा में भारतीय राजदूत रवि थापर और सिंगापुर में भारतीय उच्चायुक्त जावेद अशरफ ने भेंट की. बुधवार को मुख्यमंत्री आवास, देहरादून में हुई मुलाकात में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश के सभी राज्यों द्वारा दुनियाभर के देशों में व्यापार व निवेश सम्बन्धी अधिकाधिक भागीदारी बढ़ाए जाने की पहल को मजबूती देने के क्रम में विचार विमर्श किया गया. इस दौरान तय हुआ कि उत्तराखण्ड में कृषि व खाद्य प्रसंस्करण, स्किल डेवलपमेंट, इन्टिग्रेटेड टाउनशिप डेवलपमेंट सहित विभिन्न क्षेत्रों में सिंगापुर व पनामा का सहयोग लिया जाएगा.

HIGHLIGHTS

  • खाद्य प्रसंस्करण, स्किल, इन्टिग्रेटेड टाउनशिप डेवलपमेंट में सिंगापुर व पनामा का लेंगे सहयोग

  • मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से पनामा में भारतीय राजदूत रवि थापर से की भेंट

  • सिंगापुर में भारतीय उच्चायुक्त जावेद अशरफ से मुलाकात, उत्तराखण्ड में निवेश पर चर्चा

सिंगापुर में भारतीय उच्चायुक्त जावेद अशरफ ने बताया कि सिंगापुर को अरबन प्लानिंग (शहरी नियोजन), रेन वाटर हार्ववेस्टिंग, वाटर रिसाइक्लिंग, सोलिड वेस्ट मेनेजमेंट (ठोस अवशिष्ट प्रबन्धन), स्किल डेवलेपमेंट, वेस्ट से बिजली उत्पादन, औद्योगिक पार्को की स्थापना और खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त है. सिंगापुर द्वारा उत्तराखण्ड को उक्त क्षेत्रों में तकनीकी सहायता व निवेश सम्बन्धित सहयोग दिया जा सकता है. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि राज्य सरकार 13 डिस्ट्रिक्ट-13 न्यू डेस्टिनेशन योजना के तहत राज्य में नए पर्यटक स्थल व टाउनशिप विकसित करने पर गम्भीरता से कार्य कर रही है. नए पर्यटक स्थल व टाउनशिप विकसित करने और वर्तमान शहरों के नियोजन में सिंगापुर से सहायता ली जा सकती है.

पनामा से मजबूत होगा उत्‍तराखंड का टी बोर्ड
पनामा में भारतीय राजदूत रवि थापर द्वारा बताया गया कि पनामा में टी प्लान्टेशन के क्षेत्र में अच्छा कार्य हो रहा है. पनामा द्वारा उत्तराखण्ड चाय बोर्ड के साथ इस राज्य में चाय की बागवानी को बढ़ावा देने के लिए तकनीकी व विशेषज्ञ सहायता दी जा सकती है. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि सिंगापुर व पनामा के विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों और उत्तराखण्ड के मुख्य सचिव व उच्च प्रशासनिक अधिकारियों के मध्य विडियो कान्फ्रेसिंग के द्वारा विभिन्न क्षेत्रों के अनुभवों को साझा किया जा सकता है.

जैविक खेती के क्ष्‍ोत्र में अपार संभावनाएं
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में जैविक खेती के क्षेत्र में व्यापक संभावनाएं है. साथ ही राज्य में डिजिटल कनेक्टिविटी, सिविल एविएशन, आल वेदर रोड के सुदृढीकरण पर विशेष फोकस किया जा रहा है. राज्य में निवेशकों के लिए फ्रेंडली सिस्टम विकसित किया जा रहा है. सिंगल विंडो सिस्टम लागू किया गया है. राज्य की भौगोलिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए आईटी नेटवर्क को मजबूत किए जा रहा है. युवाओं के कौशल विकास पर विशेष बल दिया जा रहा है.

Be the first to comment on "सिंगापुर व पनामा के सहयोग से उत्‍तराखंड में कृषि व अन्‍य क्षेत्रों का होगा विकास"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*