BREAKING NEWS
post viewed 52 times

मुआवजा नहीं चाहिए, मुजरिमों को फांसी दो-मंदसौर गैंग रेप: पीड़ित बच्ची के पिता की खरी खरी

mandsuar-gangrape-victim-fa-1

सरकार की ओर 10 लाख रुपए की सहायता को लेकर पीड़ित विक्टिम के परिवार ने ने मांगा इंसाफ

श्यामदास बैरागी / इंदौर: मध्यप्रदेश के मंदसौर में गैंगरेप और वहशत की शिकार सात साल बच्ची के पिता ने इस वारदात पर रविवार को आक्रोश जताते हुए कहा कि उन्हें सरकारी मुआवजा नहीं चाहिए. उन्होंने कहा कि उनका परिवार बस इतना चाहता है कि उनकी बेटी के साथ बर्बर दुष्कर्म करने वाले दोनों मुजरिमों को जल्द से जल्द मौत की सजा दिलाई जाए. पीड़ित बच्ची के पिता ने मीडियाकर्मियों से कहा, “मेरे परिवार को सरकार से कोई मुआवजा नहीं चाहिए. हम यही चाहते हैं कि हमारी बेटी से ज्यादती के मामले में यथाशीघ्र कानूनी प्रक्रिया पूरी हो और मुजरिमों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दिलाई जाए.” प्रदेश सरकार की ओर से उन्हें 10 लाख रुपए की आर्थिक मदद देने के फैसले के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ”पैसे की कोई बात है ही नहीं. हमें बस इंसाफ चाहिए.

5 लाख अकाउंट में जमा कराए, 5 और कराएंगे
इस बीच, मंदसौर के कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव ने बताया कि गैंग रेप पीड़ित बच्ची के पिता के बैंक खाते में शनिवार को मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान योजना के मद में पांच लाख रुपए की राशि जमा कराई गई है, ताकि पीड़ित परिवार को तुरंत आर्थिक मदद दी जा सके. उनके बैंक खाते में सोमवार को इसी मद में पांच लाख रुपए और जमा कराए जाएंगे.

सरकार बच्ची के स्वास्थ्य और शिक्षा का ख्याल रखेगी
एमपी की महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटणीस ने कहा, मुख्यमंत्री ने पीड़ित बच्ची पिता के खाते में 5,00,000 रुपए स्थानांतरित कर दिए हैं. आशा है कि पुलिस जल्द ही आरोपी को दोषी साबित करेगी ताकि उसे फांसी दी जा सके. राज्य सरकार बच्ची के स्वास्थ्य और शिक्षा का ख्याल रखेगी.

बच्ची की कराई जाएगी काउंसलिंग
कलेक्टर श्रीवास्तव ने यह भी बताया कि अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद किसी वरिष्ठ मनोचिकित्सक से बच्ची की काउंसलिंग भी करायी जाएगी, ताकि वह दुष्कर्म के सदमे से जल्द से जल्द उबरकर सामान्य जीवन जी सके.

फूल बेंच कर पिता करते हैं गुजारा
बीते 26 जून को गैंगरेप पीड़ित इस स्कूली छात्रा के पिता मंदसौर में फूल बेचते हैं. पीड़ित बच्ची मंदसौर से करीब 200 किलोमीटर दूर इंदौर के शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय (एमवायएच) में 27 जून की रात से भर्ती है. सामूहिक बलात्कार पीड़ित बच्ची के पिता ने यह भी कहा कि वह अपनी संतान के एमवायएच में जारी इलाज से संतुष्ट हैं.

एमवायएच में हो रहा बेटी का सही इलाज
पीड़ित बच्ची के पिता ने अपने बेटी को बेहतर इलाज के लिए किसी अन्य अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत से इंकार करते हुए कहा, “एमवायएच में मेरी बेटी के इलाज के लिये बाहर से भी डॉक्टर आ रहे हैं. मेरी बेटी का अच्छा इलाज यहीं (एमवायएच में) हो जाएगा. उम्मीद है कि दो-चार दिन में उसकी हालत और सुधरेगी.” (इनपुट- एजेंसी)

SHAREShare on Facebook1.4kShare on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0

Be the first to comment on "मुआवजा नहीं चाहिए, मुजरिमों को फांसी दो-मंदसौर गैंग रेप: पीड़ित बच्ची के पिता की खरी खरी"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*