BREAKING NEWS
post viewed 52 times

PM मोदी को विपक्ष नहीं बुद्धिजीवियों की चुप्पी से हार का खतरा

yogi_755_1530886256_618x347

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके विरोधियों से कोई खौफ नहीं है, उनके लिए सबसे बड़ा खतरा देश के बुद्धिजीवियों की खतरनाक चुप्पी है जो उन्हें चुनाव में हरा सकते हैं.

आगरा में भारतीय जनता पार्टी की ओर से आयोजित प्रबुद्ध जन सम्मेलन कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि अगर देश का बुद्धिजीवी वर्ग यह जिम्मेदारी अपने ऊपर लेता है और चुप्पी तोड़ते हुए ये लोग देश को बताएं कि मोदी सरकार ने पिछले 4 सालों में क्या-क्या किया तभी नरेंद्र मोदी को अगले आम चुनाव में जीत मिल सकती है.

उन्होंने कहा, ‘बीजेपी देश के कई क्षेत्रों में प्रबुद्ध जन सम्मेलन का आयोजन कर रही है जिसके जरिए प्रधानमंत्री मोदी के समर्थन के लिए बुद्दिजीवियों को संगठित किया जा सके.’

सीएम योगी ने कहा, ‘ कांग्रेस और देश की अन्य विपक्षी पार्टियों ने धर्मनिरपेक्षकता के नाम पर लोगों को जमकर बेवकूफ बनाया, देश को जाति और धर्म के नाम पर बांटा, जबकि प्रधानमंत्री मोदी चुपचाप देश को आगे ले जाने में लगे हुए हैं. वह देश को विकसित और भ्रष्टाचार मुक्त बनाना चाहते हैं. मोदी सरकार ने देश की तरक्की के लिए कई योजनाओं को लॉन्च भी किया, अगर 2019 के चुनाव में मोदी को फिर से चुनाव जीतना है तो यह सिर्फ बुद्धिजीवियों के समर्थन से ही होगा.’

प्रबुद्ध जन सम्मेलन में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, ‘2014 में केंद्र में मोदी सरकार के गठन में उत्तर प्रदेश ने सबसे बड़ी भूमिका निभाई थी, यूपी ने बीजेपी के पक्ष में जमकर मतदान किया. अगर बीजेपी को यूपी में 73 सीट हासिल नहीं हुई होती तो सरकार का पूर्ण बहुमत के साथ बन पाना संभव नहीं होता.’

अमित शाह ने आगे कहा, ‘अब 2019 के लिए विपक्षी दल एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ एकजुट होने की कोशिश कर रहे हैं, ऐसे में यूपी के लोगों का कर्तव्य बनता है कि वे भाई-भतीजावाद और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाली शक्तियों को सत्ता में आने से रोकें. इन दलों का एकमात्र मकसद है कि ‘मोदी भगाओ और सरकार बनाओ’ जबकि मोदी का सिद्धांत है कि ‘भ्रष्टाचार मिटाओ और देश को बचाओ’.’

शाह ने कहा कि विपक्षी दल मोदी को सत्ता से बेदखल करने के लिए एकजुट हो रहे हैं और उनका देश के कल्याण की कोई चिंता नहीं है. मोदी ने महिलाओं के सम्मान के लिए 7.5 करोड़ टॉयलेट बनावाए. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मोदी ने हिंदी का मान बढ़ाया है. पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक पर उसे करारा जवाब दिया और सीमापार आतंकी मशीनरी को तबाह किया.

शाह ने राज्य की योगी सरकार की भी तारीफ की और कहा कि राज्य को ऐसा पहला मुख्यमंत्री मिला है जिसका अपना कोई परिवार नहीं है, वह राज्य की पूरी जनता को ही अपना परिवार समझते हैं. 2019 में बीजेपी 74 सीटों पर जीत हासिल करेगी अगर बुद्धिजीवी वर्ग बीजेपी के साथ मिलकर मोदी के काम को राज्य के कोने-कोने तक पहुंचाने का काम करे.

इस बीच बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के आगरा दौरे को लेकर शहर में कई जगह लगे ट्रैफिक जाम पर सिटी कांग्रेस ने पार्टी और प्रशासन की आलोचना की. कांग्रेस के जिला अध्यक्ष का कहना है कि शाह के दौरे के दौरान शहर के कई हिस्सों में कर्फ्यू जैसी स्थिति बनी रही और मार्गों पर वाहनों की आवाजाही पर रोक लगी रही जिससे लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. सवारी ढोने वाली गाड़ियों पर रोक लगा दी गई थी इससे एक बच्चा समय से अस्पताल नहीं पहुंच सका और उसकी मौत हो गई.

उन्होंने प्रशासन से मांग की कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को किस प्रोटोकॉल की तरह भारी सुरक्षा दी गई और यातायात व्यवस्था प्रभावित हुई. साथ ही कहा कि सुप्रीम कोर्ट इस मामले को संज्ञान में ले कि बीजेपी नेता ने अपनी ताकत का दुरुपयोग किया है और इस मसले में उन्हें हिदायत दे.

Be the first to comment on "PM मोदी को विपक्ष नहीं बुद्धिजीवियों की चुप्पी से हार का खतरा"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*