BREAKING NEWS
post viewed 48 times

केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता अर्जुन राम मेघवाल के विवादित बोल मोदी की लोकप्रियता के साथ मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढेंगी

arjun

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता अर्जुन राम मेघवाल ने शनिवार को उस वक्त नया विवाद पैदा कर दिया, जब उन्होंने कहा कि अलवर लिंचिंग की घटना प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता से संबंधित है और देश में इस तरह की जितनी घटनाएं होंगी, वह और लोकप्रिय होते जाएंगे. उन्होंने कहा कि शुक्रवार रात गाय की तस्करी के संदेह में 28 वर्षीय युवक की पीट-पीट कर हत्या निंदनीय है, लेकिन 1984 का सिख दंगा भारत के इतिहास में अबतक का सबसे बड़ी मॉब लिंचिंग की घटना है.

मेघवाल ने कहा, “हम मॉब लिंचिंग की निंदा करते हैं, लेकिन यह केवल एक घटना नहीं है. आपको इसकी पड़ताल इतिहास में करनी होगी. यह क्यों होती है? इसे किसे रोकना चाहिए? 1984 में सिखों के साथ जो कुछ भी हुआ था, वह हमारे देश के इतिहास में मॉब लिंचिग की सबसे बड़ी घटना थी.” उन्होंने कहा कि मोदी की बढ़ती लोकप्रियता के बीच मॉब लिंचिंग की घटना भाजपा सरकार को बदनाम करने के लिए होती है.

मेघवाल ने कहा, “मोदीजी जितने लोकप्रिय होंगे, इस तरह की घटनाएं उतनी ही बढ़ती जाएंगी. बिहार चुनाव के समय ‘पुरस्कार वापसी’ थी. उत्तर प्रदेश चुनाव के समय मॉब लिंचिंग थी. 2019 के चुनाव में कुछ और होगा. मोदी जी ने विकासपरक योजनाएं दी हैं और इसका असर अब जमीनी स्तर पर दिखने लगा है. इस तरह की घटनाएं उनकी लोकप्रियता पर प्रतिक्रिया हैं.”

यह घटना इस मामले पर सर्वोच्च न्यायालय की ओर से केंद्र व राज्य सरकार को फटकार लगाने के चार दिनों के बाद हुई है. अदालत ने इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए संसद को कानून बनाने के लिए कहा था. यह अलवर में पिछले वर्ष अप्रैल के बाद मॉब लिंचिंग की तीसरी घटना है.

उस समय एक डेयरी किसान पहलू खान को भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला था. नवंबर 2017 में एक और डेयरी किसान उमर मोहम्मद का शव अलवर में रेलवे पटरी के नजदीक पाया गया था. उसे गौरक्षकों की भीड़ द्वारा उस वक्त मार डाला गया था, जब वह जिले के पाहेरी तहसील स्थित अपने घर में गायों को ले जा रहा था.

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने घटना पर प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा और उनके चार वर्ष के कार्यकाल की तुलान ‘लिंच राज’ से की है. उन्होंने कहा, “भारत में गाय को अनुच्छेद 21 के अंतर्गत जीने के अधिकार के तहत मूलभूत अधिकार है और एक मुस्लिम को मारा जा सकता है, क्योंकि उसके पास जीने का मूलभूत अधिकार नहीं है. मोदी सरकार के चार साल- लिंच राज.”

इस घटना के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर इस जघन्य हत्या की कड़ी निंदा की. उन्होंने कहा, “सबसे स्तब्ध, भयानक और दुर्भाग्यपूर्ण घटना. सर्वोच्च न्यायालय की चेतावनी और दिशानिर्देश के बावजूद भीड़ द्वारा एक व्यक्ति को पीट-पीटकर मार डाला गया. मैं कड़े शब्दों में अकबर खान की मौत की निंदा करता हूं.”

उन्होंने कहा, “राजस्थान सरकार सर्वोच्च न्यायालय द्वारा हाल ही में दिए गए फैसले के बावजूद इस तरह के जघन्य अपराधों को रोकने में विफल रही है. भाजपा के लिए, मानव जिंदगियों का कोई मोल नहीं है. अपराधी कानून-व्यवस्था के बगैर भय के खुलेआम घुम रहे हैं.” कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने भी राज्य सरकार से मामले में उचित कदम उठाने का आग्रह किया है.

(इनपुट: एजेंसी)

SHAREShare on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0

Be the first to comment on "केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता अर्जुन राम मेघवाल के विवादित बोल मोदी की लोकप्रियता के साथ मॉब लिंचिंग की घटनाएं बढेंगी"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*