BREAKING NEWS
post viewed 74 times

40 मिनट में कानपुर से लखनऊ का सफर, जल्द शुरू होगा एक्सप्रेस-वे का काम

Gadkari

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि कानपुर-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का काम इसी साल शुरू होगा. केंद्र सरकार एक्सप्रेस-वे के लिए पांच हजार करोड़ रुपये देगी.

कानपुर: केंद्रीय सड़क परिवहन एवं जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि अगर इच्छाशक्ति हो तो कोई काम मुश्किल नहीं है. भाजपा सरकार ने 14 लेन की सड़क समय से पहले पूरा कर दिया, जिससे मेरठ के लोगों को दिल्ली जाने में काफी सुविधा हो गई. अब लखनऊ से कानपुर जाना और भी आसान होगा, क्योंकि दोनों शहर के बीच एक्सप्रेस-वे बनेगा.

गडकरी ने कहा कि कानपुर-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का काम इसी साल शुरू होगा. इस एक्सप्रेस-वे से 40 मिनट में कानपुर से लखनऊ का सफर पूरा होगा. केंद्र सरकार एक्सप्रेस-वे के लिए पांच हजार करोड़ रुपये देगी. केंद्रीय मंत्री नमामि गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय में कानपुर एवं बिठूर के 20 घाटों के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे. गंगा सफाई मंत्री ने कहा कि गंगा की अविरलता बनाए रखने लिए सरकार काफी गंभीर है. गंगा स्वच्छता अभियान के लिए धन की कोई कमी नहीं है. यूपी सरकार को उन्‍होंने भरोसा दिया है कि गंगा शुद्धिकरण के जितने नए प्रस्ताव उत्तर प्रदेश सरकार देगी, उसे तत्काल मान्यता दी जाएगी.

कानपुर में सबरी योजना पर होगा काम
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के पुराने प्रोजेक्ट को भी शुरू करने का काम किया गया, कानपुर में सबरी योजना के तहत काम किया जाएगा. गडकरी ने कहा कि अविरल और निर्मल गंगा का सपना जो प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री योगी और देश की जनता का है, उसे हम पूरा करने जा रहे हैं. दो साल के अंदर ये काम भी पूरा हो जाएगा. हम टोल प्लाजा के लिए भी नीति बना रहे हैं, इसकी घोषणा शीघ्र ही की जाएगी.

कानपुर से ढाका तक गंगा में आर्सेनिक बहुत: मुरली
पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि कानपुर से ढाका तक गंगा में आर्सेनिक बहुत है. इसका अध्ययन आईआईटी-कानपुर कर चुका है. उन्नाव आर्सेनिक का उद्गम स्थल है. इस पर भी काम करने की जरूरत है. उन्होंने योगी और गडकरी से गंगा की स्वच्छता के लिए कोई ठोस योजना घोषित करने का अनुरोध किया और कहा कि मदन मोहन मालवीय जी ने वाराणसी से आंदोलन किया तो अंग्रेजी सरकार से एक समझौता हुआ था. सरकार इसका अध्ययन करे. बिहार और बंगाल में गंगा की स्थिति गंभीर है. इस दौरान मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डॉ. सतपाल सिंह ने गंगा टास्क फोर्स गठित करने की घोषणा की. वहीं कार्यक्रम में प्रदेश सरकार के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि हमारा संकल्प है कि दिसंबर 2018 के बाद एक भी नाला गंगा में न जाए. हम हर संभव कोशिश करेंगे कि कुंभ में सभी को गंगा में साफ पानी मिले. (इनपुट एजेंसी)

SHAREShare on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0

Be the first to comment on "40 मिनट में कानपुर से लखनऊ का सफर, जल्द शुरू होगा एक्सप्रेस-वे का काम"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*