BREAKING NEWS
post viewed 76 times

टीचिंग फील्ड में एंट्री से पहले जानें- TGT, PGT और TET के बारे में..

teachr_1024_030918080439_1535699517_618x347

युवाओं में टीचिंग प्रोफेशन को लेकर रुचि बढ़ रही है. वहीं शिक्षा के बढ़ते विस्तार को देखते हुए इस फील्ड में टींचिग में बेहतरीन जॉब के मौके मिल रहे हैं. प्राइवेट स्कूल, सरकारी स्कूलों, संस्थान और कई कोचिंग सेंटर में नौकरी के बेहतरीन मौके हैं. बता दें, टीचर बनने के लिए किसी विषय में सिर्फ कोर्स करना ही काफी नहीं है. इसके लिए आपको कुछ विशेष परीक्षाएं भी पास करनी होती है. यह आप पर निर्भर करता है कि आप किस कक्षा के छात्र को पढ़ाना चाहते हैं और आपकी परीक्षा भी उसी आधार पर ली जाएगी. आइये देखते हैं टीचर बनने के लिए कौन-कौन सी परीक्षाएं देनी होती हैं…

TGT और PGT

टीजीटी और पीजीटी परीक्षा राज्य स्तर में आयोजित की जाती है. टीजीटी (Trained Graduate Teacher) परीक्षा में आवेदन करने के लिए उम्मीदवार को ग्रेजुएट और बीएड होना अनिवार्य है और वहीं पीजीटी (Post Graduate Teacher)परीक्षा के लिए उम्मीदवार को पोस्ट ग्रेजुएट के साथ बीएड पास होना भी अनिवार्य है. यदि उम्मीदवार टीजीटी परीक्षा पास कर लेते हैं.. तो वह शिक्षक के रूप में 6th क्लास से 10th क्लास के बच्चों को पढ़ा सकता है. यदि उम्मीदवार पीजीटी परीक्षा पास कर लेता है तो वह 10th क्लास से 12th क्लास तक के बच्चों को पढ़ा सकता है.

TET

उम्मीदवार बीएड परीक्षा के बाद TET यानी कि (Teacher Eligibility Test) परीक्षा में भी दे सकता है. जो उम्मीदवार टेटकी परीक्षा पास कर लेते हैं तो सरकारी सेक्टर में टीचर बनने का रास्ता साफ हो जाता है.

UGC- नेट

यदि उम्मीदवार कॉलेज में लेक्चरर की नौकरी चाहता है तो उस उम्मीदवार को यह परीक्षा पास करनी पड़ती है. UGC नेट(National Eligibility Test) की यह परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है. पहले इस परीक्षा में तीन पेपर होते थे लेकिन इस साल से 2 पेपर ही आयोजित किए जाते हैं.

SHAREShare on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0

Be the first to comment on "टीचिंग फील्ड में एंट्री से पहले जानें- TGT, PGT और TET के बारे में.."

Leave a comment

Your email address will not be published.


*