BREAKING NEWS
post viewed 53 times

पिटाई से शुरू हुआ BJP का दो-वर्षीय गांधी जयंती समारोह,किसानों पर लाठीचार्ज-राहुल गांधी

pjimage-11-1

किसानों पर पुलिस कार्रवाई को लेकर कई नेताओं ने मोदी सरकार पर हमला बोला है.

नई दिल्ली: हरिद्वार से दिल्ली के लिए निकली किसान क्रांति यात्रा को दिल्ली आने से रोकने के लिए दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर किसानों पर लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले और पानी कैनन के इस्तेमाल को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, विश्व अहिंसा दिवस पर BJP का दो-वर्षीय गांधी जयंती समारोह शांतिपूर्वक दिल्ली आ रहे किसानों की बर्बर पिटाई से शुरू हुआ.अब किसान देश की राजधानी आकर अपना दर्द भी नहीं सुना सकते! इससे पहले कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘दिल्ली सल्तनत के बादशाह’ की तरह व्यवहार करने का आरोप लगाया और सवाल पूछा कि जब चंद उद्योगपतियों के ‘चार लाख करोड़ रुपये माफ किए जा सकते हैं तो देश के अन्नदाताओं के कर्ज माफ क्यों नहीं हो सकते.’

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘मोदी जी, सैकड़ों किलोमीटर की पदयात्रा कर हजारों किसान अपनी मांगों को लेकर आपके द्वार आए. अगर महात्मा गांधी के विचारों को आत्मसात किया होता तो किसानों को बर्बरतापूर्वक लाठियां नहीं, उनकी मांगों की सौगात दी होती. वह समय दूर नहीं जब पूरा देश ‘किसान विरोधी-नरेंद्र मोदी’ के नारों से गूंजेगा.’ उन्होंने कहा, ‘क्या भारत के किसान दिल्ली आकर अपनी पीड़ा नहीं बता सकते? क्या किसान प्रधानमंत्री से यह नहीं पूछ सकते कि एमएसपी पर आपका वादा जुमला क्यों साबित हो गया? ’

सुरजेवाला ने कहा, ‘प्रधानमंत्री जी, आप एक तानाशाह और दिल्ली सल्तनत के बादशाह की तरह व्यवहार कर रहे हैं. जो बादशाह किसानों की पीड़ा नहीं सुन सकता, उसे पद पर एक दिन भी बने रहने का अधिकार नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘अगर मोदी सरकार चार साल में 3.16 लाख करोड़ रुपये बट्टे खाते में डाल सकती है तो फिर देश के 62 करोड़ लोगों का दो लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ क्यों नहीं कर सकती? कांग्रेस नेता ने पूछा, ‘ अगर मोदी कुछ लोगों को चार लाख करोड़ रुपये की कर्ज माफी दे सकते हैं तो फिर से 62 करोड़ लोगों के दो लाख करोड़ रुपये माफ क्यों नहीं कर सकते ?’

अस बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह की किसान नेताओं के साथ बैठक खत्म हो गई है. केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का कहना है कि सरकार किसानों की ज्यादातर मांगे मानने के लिए तैयार है. कृषि राज्यमंत्री किसानों से भी मिलेंगे. किसान अब भी दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर जमा हैं. इस बीच यूपी के गन्ना मंत्री सुरेश राणा भी किसानों से मिलेंगे.

गौरतलब है कि किसानों पर पुलिस कार्रवाई को लेकर कई नेताओं ने मोदी सरकार पर हमला बोला है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि किसानों को दिल्ली आने से नहीं रोका जाना चाहिए. यह गलत है. हम किसानों के साथ हैं. वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का कहना है कि सरकार ने किसानों से किए गए वादे को नहीं निभाया. किसानों का विरोध प्रदर्शन स्वभाविक है. हम किसानों के साथ हैं. एनडीए की सहयोगी नीतीश कुमार की जेडीयू ने भी किसानों पर पुलिस कार्रवाई का विरोध किया है.

SHAREShare on Facebook1.4kShare on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0

Be the first to comment on "पिटाई से शुरू हुआ BJP का दो-वर्षीय गांधी जयंती समारोह,किसानों पर लाठीचार्ज-राहुल गांधी"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*