गोरखपुर, – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्वविद्यालयों में अराजकता की बढ़ती घटनाओं पर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि ऐसा होने के लिए जिम्मेदार युवा दरअसल दिग्भ्रमित हो चुके हैं। उनका नेतृत्व वह लोग कर रहे हैं, जिन्होंने कभी देश को अपना नहीं माना, जो अलगाववाद को बढ़ावा देते हैं और युवाओं को गलत जानकारी देकर भटकाने की कोशिश कर रहै हैं।

सीएम योगी आदित्‍य नाथ गुरुवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद गोरक्ष प्रान्त द्वारा आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह में युवाओं से मुखातिब थे। योगी ने कहा कि आज विश्वविद्यालयों में षड्यंत्र करने वालों को जब नायक बनाया जाता है तो मन व्यथित होता है, भारत विभाजन के नारे लगाने वालों को हीरो बनाया जाता है तो चिंता होती है। हालांकि ऐसे ही कुत्सित प्रयासों को जवाब देने के लिए एबीवीपी मुकाबिल है। अपने रचनात्मक प्रयासों से परिषद पिछले 70 सालों से  युवाओं को राष्ट्र निर्माण के लिए प्रेरित करता रहा है।

योगी ने प्रदेश के युवाओं से आह्वान किया है कि वह अपने पुरुषार्थ के बल पर समर्थ और सक्षम देश का निर्माण करें। सरकार उनके साथ है, हर सहयोग मिलेगा। योगी ने कहा  सरकारी संस्थानों से नाम मात्र के शुल्क में शिक्षा प्राप्त करने के बाद भी युवा एक-दो वर्षों के लिए  ही सही लेकिन समाज को अपनी शिक्षा का लाभ दें, अफसोस कि उच्च शिक्षा हो, प्राविधिक शिक्षा हो यह फिर चिकित्सा शिक्षा, युवाओं की प्राथमिकता में सामाजिक सरोकार कम ही देखने को मिलते है। शिक्षण संस्थानों को और एबीवीपी जैसे संगठनों को चाहिए कि युवाओं में इस बाबत भाव का संचरण करें।